पति के दोस्त ने बुझाई चूत की प्यास

Discussion in 'Hindi Sex Stories' started by desimirchi, Dec 31, 2016.

  1. desimirchi

    desimirchi Administrator Staff Member

    हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम पूनम है और एक दिन मेरे पति का रात में 11 बजे फोन आया और उन्होंने कहा कि एक खुश खबरी है, तो मैंने पूछा कि क्या? तो वो बोले कि में 5 दिन के बाद घर आ रहा हूँ। अब ये सुनकर में झूम उठी, क्योंकि मेरे पति पिछले 54 दिन से टूर पर है और अब वो जल्दी ही आने वाले है। अब में ये सोचकर काफ़ी मस्त हो रही थी कि आखिर वो दिन आ ही गया जब वो फिर से मेरे पास होंगे और हम फिर से कुछ हंसी के पल साथ में गुजारेंगे। उस दिन हमने लैपटॉप पर वीडियो कॉल पर 3 घंटे बात की और एक दूसरे को बताया कि हम कितना तन्हा महसूस कर रहे है। अब बातों-बातों हम बहक गये और भावनाओं में बहते चले गये। फिर कुछ ही देर में उन्होंने मुझसे प्यार भरी बात शुरू कर दी और मेरे जिस्म को देखने की जिद करने लगे।

    अब में थोड़ा शरमाई और मना करने लगी कि वीडियो पर ये सब कैसे करूँ? लेकिन में मन ही मन में भी बहुत उत्तेजित थी कि में थोड़ा अपना जिस्म उन्हें दिखाऊँ, क्योंकि इस जिस्म की प्यास पिछले 30 दिनों से किसी ने नहीं बुझाई थी। में एक बंजर ज़मीन की तरह हो गई थी जो प्यार की एक एक बूँद के लिए तरस रही है। मैंने पर्पल नाइटी पहने हुई थी जो कि स्लीवलेस और मेरी जांघो तक थी, वो नाइटी लगभग सिल्की और सामने से नेट की है जो मेरे पति को पागल बना रही थी और इसलिए वो बार- बार बोल रहे थे कि मेरी रानी कुछ तो दिखा दो, लेकिन मैंने उनकी इच्छा को हँसते हुए मना कर दिया और लैपटॉप लेकर बिस्तर पर उल्टी लेट गई। अब लैपटॉप मेरे सामने था और में उल्टी लेटकर अपने पति से बात करने लगी, मुझे पता था कि इससे मेरे क्लीवेज और अच्छे से दिखने लगेंगे, क्योंकि मेरे बूब्स मेरे बेड से दबकर और बड़े दिखने लगे थे और मेरी नाइटी से काफ़ी बाहर आने लगे थे।

    अब ये देखकर मेरे पति पागल से हो गये और मुझसे बहुत विनती करने लगे कि कुछ तो दिखा दो। फिर मैंने उनसे हँसते हुए कहा कि आप मेरे पति हो, आपकी इतनी इच्छा तो पूरी करनी ही पड़ेगी। फिर मैंने अपने पूरे बाल साईड में कर दिए और साईड से नाइटी को थोड़ा सा नीचे कर दिया और मेरी पर्पल ब्रा मेरे गोरे जिस्म पर मेरे पति को मदहोश कर रही थी। सच बताऊँ तो अब मेरी हालत भी बहुत खराब हो रही थी और मेरा मन हो रहा था कि अभी पूरी नंगी होकर अपने पति को सब कुछ अच्छे से दिखाऊँ, लेकिन मुझे शर्म भी बहुत आ रही थी। अब मेरे पति बोल रहे थे क्या बात है पूनम? मुझे घर आने दो, में तुम्हें नंगा करके कच्चा खा जाऊंगा।

    अब मेरी ब्रा सिर्फ़ मेरे निप्पल को ढके हुए थी और उसके ऊपर का सब कुछ मेरे पति को दिखा रही थी। अब मेरे मन में आया कि तू कितनी बेशर्म हो गई है पूनम, लेकिन तभी मेरे पति ने कहा कि पूनम मुझे घर आने दे में तेरे दूध को अपने होंठो से चूसूंगा। अब ये सुनकर में पागल सी होने लगी थी और फिर उन्होंने कहा कि अपनी नाइटी उतार दो, तो मैंने उनकी आज्ञा का पालन किया और अपनी नाइटी उतार दी और फिर से उल्टी लेट गई। में रात को ब्रा का हुक खोलकर ही सोती हूँ। फिर लेटने से मेरी ब्रा एकदम से गिर गई और मेरे दोनों अनमोल रत्न जो दूध से भी ज्यादा गोरे और सोने से भी ज्यादा चमकीले है, उन्हें वो साफ-साफ दिखने लगे। अब उन्होंने अपना कंट्रोल खो दिया था और जल्दी से वो भी नंगे हो गये। अब उनका वो एकदम टाईट था जैसे की अंबुजा सीमेंट से बना हो, उसमें जान थी और वो एकदम मजबूत सरिया लग रहा था। अब उसको देखकर तो में पागल ही गई थी और में अपनी जीभ निकालकर अपने होंठो पर फैरने लगी। फिर मैंने अपनी जीभ नीचे वाले लिप्स पर टच की और धीरे-धीरे से उसे लेफ्ट साईड पर फैरने लगी, जब ही ये देखकर उनका हिलाते-हिलाते निकल गया और मेरी प्यास अधूरी ही रह गई।

    फिर उन्होंने मुझे गुड नाईट बोला और सोने चले गये। अब में बिस्तर पर तड़पति रही और कुछ देर तक अपने बूब्स अपने आप ही सहलाती रही और कुछ देर के बाद सो गई। फिर सुबह जब मेरी आँख खुली तो मेरा मन ही नहीं कर रहा था कि में बेड से उठूँ, क्योंकि मेरी जिस्म की प्यास अधूरी की अधूरी ही रह गई थी। अब में कुछ देर तक सुबह बिस्तर पर पड़े-पड़े सोचती रही कि अब ये प्यास मुझसे और सहन नहीं होती है। अब मेरा जिस्म गर्म हो गया था और इसको ठंडा होने के लिए किसी के प्यार की ज़रूरत थी। अब रात का किस्सा सोचकर मुझे गुस्सा भी आ रहा था और प्यार भी आ रहा था। अब प्यार ये सोचकर कि कैसे मैंने अपने बूब्स वीडियो पर दिखाए? और ये सोचकर कि मेरे पति कितने खुदगर्ज है कि खुद का मन भरते ही चले गये और वाईफ की एक बार भी नहीं सोची।

    फिर जब ही मेरे पति का फोन आया और में खुश हो गई कि शायद रात के लिए सॉरी बोलने के लिए आया होगा। फिर मैंने फोन रिसीव किया, तो वो बोले कि मैंने यहाँ जो पैसे जमा किए है वो मैंने मेरे एक एक दोस्त को ट्रान्सफर कर दिए है, वो दोपहर में 1 बजे घर आएगा तो उससे पैसे ले लेना। फिर मैंने कहा कि ठीक है और फोन कट कर दिया। अब तो मुझमें और गुस्सा आ गया था कि उन्होंने कल रात के बारे में एक बार भी पूछा तक नहीं। फिर ये सोचते हुए में तैयार होने चली गई, फिर नहाने के बाद मैंने लंच बनाया और फिर टी.वी देखने लगी। अब टी.वी पर मानसून वेडिंग मूवी आ रही थी और तब ही डोर बेल बजी, तो मैंने दरवाजा खोला तो देखा कि मेरे पति के दोस्त आए हुए थे और उनके हाथ में एक सफ़ेद बैग था। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

    फिर मैंने कहा कि सॉरी में तो भूल ही गई थी कि 1 बज गये। फिर मैंने उन्हें अंदर बुलाया और सोफे पर बैठने को कहा। मेरे पति के दोस्त बैचलर है और उनकी उम्र कुछ 28 साल के आस पास होगी और उनका नाम नितीश है। अब नितीश ने टी.वी में देखते हुए कहा कि अरे ये मूवी तो मुझे बहुत पसंद है। फिर मैंने कहा कि तो देख लो और में पॉपकॉर्न बनाकर ला देती हूँ। नितीश मेरे पति का जूनियर है और काफ़ी अच्छा दोस्त भी है, वो इससे पहले भी हमारे घर काफ़ी बार आ चुका है। फिर मैंने उसे पॉपकॉर्न लाकर दिए और साईड में सोफे पर बैठकर मूवी देखने लगी। अब नितीश ने कुछ पॉपकॉर्न तो अच्छे से खाए, लेकिन कुछ ही देर के बाद उसने एक पॉपकॉर्न उछाली और अपने मुँह में लेने की कोशिश की, लेकिन वो मिस हो गई तो में हँसने लगी और उस बेचारे को बहुत बुरा लगा। फिर उसने फिर से ट्राई किया और फिर से मिस हो गया और में और ज़ोर-ज़ोर से हँसने लगी। फिर उसने मेरी तरफ देखा और कहा कि पूनम भाभी आप करके दिखाओ, जो इतना हंस रही हो। हमारे बीच में थोड़ा हंसी मज़ाक चलता ही रहता था तो मैंने कहा कि हाँ क्यों नहीं? और ट्राई किया, लेकिन पॉपकॉर्न मुझसे भी मिस हो गया।

    फिर हम दोनों खड़े हो गये और फिर से शर्त लगाई, फिर मैंने पॉपकॉर्न हवा में उछाला और अपने लिप्स ओपन करके थोड़ी सी उछली, तो मेरे उछलने से मेरा पल्लू नीचे गिर गया और में एकदम से नीचे देखने लगी और पॉपकॉर्न मेरे क्लीवेज पर आकर गिर गया। फिर में जल्दी से अपना पल्लू उठाने के लिए थोड़ा सा झुकी, तो मेरे क्लीवेज नितीश को साफ दिखने लगे। फिर मैंने जल्दी से अपना पल्लू ठीक किया और उससे अपनी आँखे चुराने लगी। फिर नितीश ने मुझसे कहा कि भाभी और। फिर मैंने उसकी तरफ घूमते हुए कहा कि क्या हुआ? तो उसने अपने सीधे हाथ की उंगली से मेरे बूब्स की तरफ इशारा किया, तो में शॉक हो गई कि नितीश ऐसा कैसे कर सकता है? और मेरी आँखे और लिप्स खुले के खुले रहे गये। शायद नितीश समझ गया था कि में क्या सोच रही हूँ? और इसलिए उसने बिना कुछ बोले अपना सीधा हाथ आगे बढ़ाया और मेरे बूब्स की और ले आया।

    अब मेरे मन में चोर आ गया था और मैंने उससे कुछ नहीं बोला। फिर उसके हाथ मेरे क्लीवेज की तरफ आए और उसके नाखूनों ने मेरे बूब्स की स्किन को टच किया तो मेरे तन बदन में आग लग गई, लेकिन तब ही उसने मेरे क्लीवेज पर गिरी पॉपकॉर्न उठाई और खा ली। अब में शॉक हो गई थी और वो हँसते हुए बोला कि अब तो ये और टेस्टी लग रही है। फिर में थोड़ा शरमाई और कहा कि तुम आजकल बहुत बदमाश हो गये हो। अब ट्राई करने की बारी उसकी थी, फिर उसने पॉपकॉर्न उछाली और इधर उधर होते हुए वो मुझ पर गिर गया। अब उसके वजन के कारण हम दोनों सोफे पर गिर गये और उसके लिप्स मेरे लिप्स पर टच हो गये। अब हम दोनों सहम गये और कुछ सेकेंड तक एक दूसरे के लिप्स पर लिप्स रखे रहने दिए।

    फिर जैसे ही उसने धीरे-धीरे अपना चेहरा ऊपर किया तो अब हम दोनों की गर्म सांसे आपस में मिलने लगी थी। फिर थोड़ा चेहरा ऊपर करते ही हमने महसूस किया कि मेरे बूब्स उसकी छाती से दबे हुए है। फिर उसने अपना सिर नीचे किया तो उसको मेरे दबे हुए बूब्स दिखे और वो फिर से कंट्रोल खो करके मेरे ऊपर गिर गया और फिर से हमारे लिप्स टच हुए, लेकिन इस बार उसने मेरे होंठो को चूसने की कोशिश की और उसने कोशिश की। अब मेरे होंठ उसके होंठो के बीच में थे और हम दोनों की आँखे बंद थी। फिर उसने मेरे लिप्स चूसने की बजाए वो अपने लिप्स मेरे लिप्स पर रगड़ने लगा। अब मेरे लिप्स उसके लिप्स से रगड़ खाकर सूख गये थे।

    फिर उसने अपनी जीभ निकाली और मेरे नीचे वाले लिप्स पर रख दी। अब मेरे दिल की धड़कन डबल स्पीड से चलने लगी थी और मेरा सीना जोर-जोर से ऊपर नीचे होने लगा था। अब वो समझ गया था कि पूनम भाभी इंजॉय कर रही है और तब ही उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी। अब हमारी जीभ भी मिल चुकी थी और मेरे बूब्स उसकी छाती से दबे हुए थे। फिर मेरी साड़ी के ऊपर से मुझे कुछ महसूस हुआ और मुझे समझ आया कि उसका डंडा चौक्कना हो गया है और ये सोचकर मैंने उसकी पीठ को अपनी उँगलियों से ज़ोर से दबा लिया और उसने मेरी साड़ी के ऊपर से ही अपने शैतान को मेरे ऊपर दबा दिया और हल्के-हल्के झटके देने लगा। फिर वो मेरी गर्दन पर आया और अपनी जीभ निकालकर मुझे लिक करने लगा। फिर उसने अपनी जीभ मेरी गर्दन से नीचे ले जाते हुए वो मेरी छाती को चूमने लगा। अब में अपनी आँखे बंद करके लंबी-लंबी सांसे लेने लगी थी और अब में अपना पूरा होश खो बैठी थी। फिर उसके बाद उसने मुझे चोदा और पैसे देकर अपने घर चला गया ।।
     

Share This Page